प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर - उमा

 
साझा करें
 

Manage episode 330007808 series 69231
Shri Ram Parivar द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।
प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर,
प्रभु को नियम बदलते देखा ।
उनका मान भले टल जाए,
भक्त का मान न टलते देखा ॥

जिनकी केवल कृपा दृष्टि से,
सकल सृष्टि को पलते देखा ।
उनको गोकुल के गोरस पर,
सौ-सौ बार मचलते देखा ॥
प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर…

जिनके चरण कमल कमला के,
करतल से न निकलते देखा ।
उनको बृज करील कुञ्जों में,
कंटक पथ पर चलते देखा ॥
प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर…

जिनका ध्यान विरंचि शम्भु
सनकादिक से न सम्हलते देखा ।
उनको बाल सखा मंडल में,
लेकर गेंद उछलते देखा ॥
प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर…

जिनकी वक्र भृकुटि के भय से,
सागर सप्त उबलते देखा ।
उनको ही यशोदा के भय से,
अश्रु बिंदु दृग ढलते देखा ॥
प्रबल प्रेम के पाले पड़ कर…

112 एपिसोडस