show episodes
 
S
Sanatan Satya

1
Sanatan Satya

Sanatan Satya

Unsubscribe
Unsubscribe
मासिक+
 
धर्म,दर्शन,ज्योतिष,समाज,राजनीती और मानवीय संवेदनाओ का वैज्ञानिक,आध्यात्मिक और व्यवहारिक विश्लेषण.
 
The purpose of the Om Gurudev Namo channel is to protect the priceless heritage of our sages and saints for the coming generation. In this present world, when we have a shortage of time for reading our spiritual texts, we are using a medium of short storytelling, which seems to be most effective in this modern age. आद्यात्मिक कथाएं। सनातन धर्म। संत मत। साखी साग्रह। संत कबीर। महाऋषि वेदव्यास। महाभारत। रामयण। भगवत गीता। ऋषि मुनि। साधु। गुरु। Hindi Spiritual Stories | Santana Dharma | Hinduism ...
 
तुलसीदास जी का जन्म, आज से लग-भग 490 बरस पहले, 1532 ईसवी में उत्तर प्रदेश के एक गाँव में हुआ और उन्होंने अपने जीवन के अंतिम पल काशी में गुज़ारे। पैदाइश के कुछ वक़्त बाद ही तुलसीदास महाराज की वालिदा का देहांत हो गया, एक अशुभ नक्षत्र में पैदा होने की वजह से उनके पिता उन्हें अशुभ समझने लगे, तुलसीदास जी के जीवन में सैकड़ों परेशानियाँ आईं लेकिन हर परेशानी का रास्ता प्रभु श्री राम की भक्ति पर आकर खत्म हुआ। राम भक्ति की छाँव तले ही तुलसीदास जी ने श्रीरामचरितमानस और हनुमान चालीसा जैसी नायाब रचनाओं को ...
 
राम की कहानी हम बचपन से सुनते आ रहे हैं।कभी तुलसी दस की चौपाइयाँ, तो कभी रामानंद सागर की कल्पनायें - जाने अनजाने - हर प्रकार की रामायण हमारे मन में छाप छोड़ गयी है।तो फिर इस वर्णन में ऐसा क्या ख़ास है? इस podcast में कविता पौडवाल आपको मूल वाल्मीकि रामायण तो सुनाएंगी ही तथा आपके साथ वह ये भी समझने की कोशिश करेंगी कि आज के दौर में राम और राम की कथा का क्या महत्व हैं। यहाँ आपको अयोध्या का इतिहास तो जानने को मिलेगा ही साथ ही म्यूटेंट्स, सुपरहेरोस, मेटावर्स जैसी आधुनिक कथाओं से रामायण के किरदारों क ...
 
Gita , krishna and success stories , ekadashi, janmashtami. "समय ⏲️को भी समय⏰ लगता है, समय ⏱️ बदलने में। इसलिए अपनेआप को समय दें,इस आपके ही चैनल के माध्यम से।" "श्रीमद्भगवद्गीता" के वजह से आपके जीवन में सफलता आए और यह चैनल उसका हिस्सा बनें इसमें मेरा सौभाग्य है। आपकी सफलता के लिए मंगल कामना . Krishna janm poetry https://hubhopper.com/episode/poetry-of-krishna-janmashtami-1630285171
 
Founder ~ New Green Valley School _ Ramgarha , Satrana , Nasrullaganj ( M.P. ) working for education. थक कर ना बैठ ऐ मंज़िल के मुसाफिर, मंज़िल भी मिलेगी और सपना 🇮🇳 पुरा होने पर मजा भी आयेगा ||
 
शिव अमृतवाणी भगवान भोलेनाथ की बहुत ही सूंदर और पावन वंदना है। इसमें शिव महिमा का पूर्ण वर्णन है जिसे सुनकर भक्त उनकी आराधना करते है। इसमें भोले नाथ के अलग अलग रूपों का सम्पूर्ण दर्शन कर सकते है।
 
सत्यनारायण भगवान की कथा लोक में प्रचलित है। हिंदू धर्मावलंबियो (धर्मावलम्बियों) के बीच सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में भगवान विष्णु के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। कुछ लोग मनौती पूरी होने पर, कुछ अन्य नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते हैं। सत्यनारायण व्रत कथा के दो भाग हैं, व्रत-पूजा एवं कथा। सत्यनारायण व्रतकथा स्कंदपुराण के रेवाखंड (रेवाखण्ड) से संकलित की गई है।
 
सत्यनारायण भगवान की कथा लोक में प्रचलित है। हिंदू धर्मावलंबियो (धर्मावलम्बियों) के बीच सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में भगवान विष्णु के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। कुछ लोग मनौती पूरी होने पर, कुछ अन्य नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते हैं। सत्यनारायण व्रत कथा के दो भाग हैं, व्रत-पूजा एवं कथा। सत्यनारायण व्रतकथा स्कंदपुराण के रेवाखंड (रेवाखण्ड) से संकलित की गई है।
 
सत्यनारायण भगवान की कथा लोक में प्रचलित है। हिंदू धर्मावलंबियो (धर्मावलम्बियों) के बीच सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में भगवान विष्णु के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। कुछ लोग मनौती पूरी होने पर, कुछ अन्य नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते हैं। सत्यनारायण व्रत कथा के दो भाग हैं, व्रत-पूजा एवं कथा। सत्यनारायण व्रतकथा स्कंदपुराण के रेवाखंड (रेवाखण्ड) से संकलित की गई है।
 
सत्यनारायण भगवान की कथा लोक में प्रचलित है। हिंदू धर्मावलंबियो (धर्मावलम्बियों) के बीच सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में भगवान विष्णु के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। कुछ लोग मनौती पूरी होने पर, कुछ अन्य नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते हैं। सत्यनारायण व्रत कथा के दो भाग हैं, व्रत-पूजा एवं कथा। सत्यनारायण व्रतकथा स्कंदपुराण के रेवाखंड (रेवाखण्ड) से संकलित की गई है।
 
सत्यनारायण भगवान की कथा लोक में प्रचलित है। हिंदू धर्मावलंबियो (धर्मावलम्बियों) के बीच सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में भगवान विष्णु के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। कुछ लोग मनौती पूरी होने पर, कुछ अन्य नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते हैं। सत्यनारायण व्रत कथा के दो भाग हैं, व्रत-पूजा एवं कथा। सत्यनारायण व्रतकथा स्कंदपुराण के रेवाखंड (रेवाखण्ड) से संकलित की गई है। Click on this link to start your own podcast - https://studio.hubhopper.com/?utm_source=host_feed_programme&utm_med ...
 
कबीरदास भारत के रहस्यवादी कवि और संत थे. उन्होंने कभी कागज कलम को छुआ नहीं था लेकिन लोगों को रास्ता दिखाने वाले संत के रूप में जाने गए. संत कबीर सिर्फ एक संत ही नहीं विचारक और समाज सुधारक भी थे. उनकी अमृतवाणी से कई लोगों को जीवन जीने की सीख मिली है. उनकी बातें जीवन में सकारात्मकता लाती हैं.
 
श्री हरि विष्णु के सातवे अवतार मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की चालीसा का पाठ करने से सभी भक्तो की समस्त समस्याएं धीरे धीरे समाप्त हो जाती है। राम चालीसा का नित्य पाठ करने से व्यक्ति का मन शांत होता है और उसमें ज्ञान - विवेक का विकास होता है। तो चलिए सुनते है रघुकुलनंदन प्रभु श्री राम जी की चालीसा।
 
"अम्बे तू है जगदम्बे काली" माता की विख्यात आरती है। इसके गायन से माँ दुर्गा का आशीर्वाद प्राप्त होता है। माँ के विभिन रूपों की स्तुति आप इस आरती के माध्यम से कर सकते है। आइये सुनते है माँ की पावन आरती।
 
सनातन धर्म में पूजा-पाठ के दौरान मंत्रों के उच्चारण पर विशेष बल दिया जाता है। भगवान शिव की पूजा में कोई विशेष नियम नहीं होते। बल्कि भोले नाथ तो सिर्फ अपने भक्तो के द्वारा किये गए उनके मंत्र के उच्चारण से ही प्रसन हो जाते है। अगर भक्‍त सच्‍चे मन से इनका नाम भी पुकार ले तो भोले भंडारी उसकी हर मनोकामना पूरी कर देते है। इसलिए आइये और सुने शिवे जी की पावन आरती।
 
https://linktr.ee/Joshuto, Logo https://Monishry.tumblr.com मेरा अनुभव इच्छुक लोगों के साथ बाँटने के लिए मेरी वेब साईट HTTPS://Philosia.in की अंग्रेज़ी पोस्ट को भी हिंदी में इस पाड्कैस्ट के माध्यम से आप तक पहुँचाने का प्रयत्न करूँगा। ध्यान का और विशेषकर awareness meditation याने सहज ध्यान जो बुद्ध और कबीर ने सुझाया था। अपना काम करते हुए अपनी जागरूकता हम क्या कर रहे हैं, और कौन कर रहा है इस पर बनाए रखना। यही सहज ध्यान है। इस यात्रा पर निकलना ही हर मनुष्य का स्वधर्म है। चाहे सामूहिक धर्म वह इस ...
 
भगवान राम के अनन्य सेवक श्री हनुमानजी अपने भक्तों पर आने वाले सभी संकटों को हर लेते हैं। तभी उनको संकट मोचक भी कहा जाता है। प्रत्येक भक्त को हनुमान जी की पूजा करने के बाद अंत में रोज उनकी आरती करनी चाहिए। कहा जाता है कि मंगलवार को हनुमान जी की आरती करने से हनुमान जी अत्यंत खुश होते हैं। उनकी पावन आरती करने से सभी प्रकार की नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं और घर में सुख - समृद्धि आती है।
 
स्कंद पुराण में वर्णित एक कथा के अनुसार बिना आरती के राम जी की पूजा को संपूर्ण नहीं माना जाता। राम जी की आरती सभी आरतीयो में से पावन मानी जाती है। कहा जाता है कि राजा राम चंद्र भगवान की आरती सुनने मात्र से सभी समस्याओं का समाधान हो जाता है। आइये सुने आरती राम जी की।
 
गुरुवार के दिन साईं भक्त साईंबाबा की कृपा पाने के लिए अनेक पूजा उपाय, स्तुति का पाठ या मंत्रों का जप भी करते हैं। गुरुवार के दिन यदि साईं बाबा के इन मंत्रों का 108 बार जाप किया जाए तो जीवन में खुशियां आती हैं और हर प्रकार के कष्ट और बाधाओं से मुक्ति मिलती है। उनके मंत्र जप से ईर्ष्या, द्वेष, स्वार्थ, कलह आदि सरे बुरे भाव दूर हो जाते है। आइये सुने साई बाबा के विशेष मंत्र को।
 
ॐ महालक्मी नमो नमः मंत्र के जाप करने से लक्ष्मी माता प्रसन्न होती है और भक्तो पर अपनी कृपा दृष्टि बनाये रखती है। इस मंत्र का अनुवाद है: "ओम। हम श्री महा विष्णु की पत्नी, महान देवी श्री लक्ष्मी का ध्यान करें। वह तेजोमय महा लक्ष्मी देवी हमारे मन को समझ से प्रेरित और प्रकाशित करें।" नियमित रूप से इस मंत्र के पवित्र संस्कृत शब्दों को सुनने से भक्तो को सुख समृदि की प्राप्ति होती है। आइये सुनते है महालक्मी जी के चमत्कारिन मंत्र को।
 
हनुमान चालीसा की सैंतीसवी चौपाई “जै जै जै हनुमान गोसाईं। कृपा करहु गुरुदेव की नाई।।” में तुलसीदास जी कहते है "हे स्वामी हनुमानजी। आपकी जय हो, जय हो, जय हो। आप मुझ पर कृपालु श्री गुरुजी के समान कृपा कीजिए। तुलसीदास जी यहाँ केहना चाहते है की जीवन में और कोई योग्य गुरु न मिले तो हनुमान जी को गुरु और हनुमान चालीसा को ही मंत्र बना लीजिए।
 
"जैसा की नाम से स्पष्ट होता है, बजरंग बाण एक बाण के सामान काम करने वाला पाठ है । इसके अंतर्गत हनुमान जी के बल, बूढी व अनेक गुणों का बखान करते हुए हनुमना जी की सौगंध दी जाती है किस प्रकार श्री राम के कार्यो को पूर्ण किया था, उसी प्रकार आपको मेरे कार्या को भी सफल करना होगा। मंगलवार के दिन चमत्कारी बजरंग बाण का पाठ करना बहुत लाभकारी होता है। जिस घर में बजरंग बाण का नियमित पाठ होता है, वहां दुर्भाग्य, भूत प्रेत का प्रकोप और असाध्य शारीरिक कष्ट नहीं होते। "
 
ॐ नमः शिवाय भगवन शिव के सबसे अधिक जाप किये जाने वाले मंत्रो में से एक है। ये मंत्र भगवन शिव को समर्पित है जिन्हे महादेव के नाम से भी जाना जाता है। ॐ को भ्रमांड की ध्वनि माना जाता है. इसका अर्थ है प्रेम और शान्ति। नमः और शिवाय का एक साथ अर्थ है पांच तत्व - पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश। शिव मंत्र के उपचारण से इंसान नकारात्मकता को दूर कर सकता है और इंद्रियो पर नियंत्रणद करना सिखाता है।
 
गणेश जी के मंत्र का जाप करने से सभी भक्त अपने दुखों से मुक्ति पा सकते है। हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार गणेश जी को एक ऐसे देवता के रूप में पूजा जाता है जो अपने भक्तों के सभी दुखों को हर लेते हैं। इसलिए गणेश जी को विघ्नहर्ता यानी की सभी विघ्नों को हरने वाला भी कहा गया है। हिन्दू धर्म को मानने वाले सभी लोग किसी भी शुभ कार्य को शुरु करने से पहले गणेश जी की पूजा और उनके मंत्र का उच्चारण ज़रूर करते हैं।
 
सनातन धर्म में ॐ को बहुत ही प्रभावशाली माना गया है। ॐ का उच्चारण करते समय तीन अक्षरों की ध्वनि निकलती है। ये तीन अक्षर क्रमशः अ+उ+म् हैं। इसमें 'अ' वर्ण 'सृष्टि' का घोतक है 'उ' वर्ण 'स्थिति' दर्शाता है जबकि 'म्' 'लय' का सूचक है। इन तीनों अक्षरों में त्रिदेव यानी (ब्रह्मा,विष्णु,महेश) का साक्षात वास माना जाता है। ॐ के जाप को अनिष्टों का समूल नाश करने वाला माना गया है। एहि नहीं, ॐ के उच्चारण से शारीरिक और मानसिक रूप से शांति भी प्राप्त होती है।
 
गणेश जी की पूजा और आरती के बिना कोई भी पूजा, अनुष्ठान पूर्ण नहीं होते। पूजा किसी भी देवी-देवता की क्यों ना हो, गणपति जी की आरती के बिना पूजा सफल नहीं मानी जाती है। गणेश जी की पूजा करने से दाम्पत्य जीवन में सुख और सौभाग्य आता है और घर में समृद्धि बढ़ती है। खास कर के बुधवार को उनकी पूजा करने से गणेश जी जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। तो आइये सुनते है उनकी पावन आरती।
 
आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ कहा जाता है कि आरती के बिना पूजा अधूरी मानी जाती है। आरती के बाद ही पूजा का पूर्ण फल प्राप्त होता है। कुंज बिहारीजी की आरती भी एक ऐसे पावन आरती है जो शंख, घंटी और करतल बजाते हुए परिवार के साथ भक्ति के साथ गाई जाती है | भगवान श्री कृष्ण के साथ देवी राधा का यह आरती गीत वातावरण को आनंदित करता है। आइये सुनते है आरती कुंजबिहारी की।
 
गुरुवार का दिन साईं बाबा के भक्तों के लिए खास दिन होता है। मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान साईं के सामने साईं मंत्र जाप करने से सौभाग्य प्राप्त होता है। अगर साई भक्त उनके मंत्र का १०८ बार जाप करते है तो साई बाबा उन्हें हर कष्ट और दुःख से बचा लेते है। चलिए करते है साई बाबा के चमत्कारी मंत्र "ॐ साई नमो नमः" का १०८ बार जाप।
 
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गायत्री मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। गायत्री मंत्र का जाप तीन बार किया जा सकता है। पहला समय है सूर्योदय से ठीक पहले, जिसे सूर्योदय के बाद तक करना चाहिए। दूसरा समय है दोपहर का और तीसरा समय है सूर्यास्त से ठीक पहले और सूर्यास्त के बाद तक करना चाहिए। कहते हैं कि गायत्री मंत्र के जाप से दुख और दरिद्रता का नाश होता है, मन शांत और एकाग्र रहता है और मुखमंडल पर चमक आता है।
 
श्रीमद_भगवत_गीता_सार-_अध्याय_Shrimad_Bhagawad_Geeta_With_Narration_Chapter_Shailendra_Bharti
 
Navbharat Gold from the house of BCCL (Times Group), is a first of a kind Hindi Podcast Infotainment Service in the world, offering an unmatched range and quality of content across multiple genres such as Hindi audio news, current affairs, science, audio-documentaries, sports, economy, history, spirituality, art and literature, life lessons, relationships and much more. To listen to a much wider range of such exclusive Hindi podcasts, visit us at www.navbharatgold.com
 
Loading …
show series
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Will one more Vikrant be enough to take on China? भारतीय नौसेना को विक्रांत का नया वर्जन मिलने में क्या दिक्कत है? कितना जरूरी है एयरक्राफ्ट कैरियर? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Will India continue to take advantage of cheap Russian oil? रूस के तेल पर अमेरिकी प्रतिबंधों का क्या है मतलब? भारत पर पड़ेगा कैसा असर? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Which team is Dominating in FIFA 2023? नॉकआउट स्टेज में किस टीम के पास सबसे बेहतर मौका? क्या देखने को मिलेंगे और उलटफेर? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: How big a threat can cyber hackers become? दिल्ली एम्स के बाद मंत्रालय पर निशाना, क्या साइबर हमले से कुछ भी सुरक्षित नहीं? क्या है बचाव का तरीका? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
जो राम अयोध्या के सिंघासन पर भैठने वाले थे, वह छाल के कपड़े पहनकर अपनी पत्नी के साथ वनवास जा रहे थे। अयोध्या वासियों, दशरथ, कौशल्या सभी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा की ऐसा दिन आएगा। राम के जाने के लिए सोने का रथ और सुंदर घोड़े मँगवाए गए। सीता के साथ 14 वर्षों तक पूरा पढ़े, इतने गहनें कपड़े भेजे गए। यह दृश्य किसी movie के scene की तरह था, किसी बारात की…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why India’s G20 presidency is Important? सालभर में दो सौ बैठक, कौन-से मुद्दे होंगे अहम? क्या तैयारी की है सरकार ने? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
जब दशरथ ने राम की सुरक्षा और सुविधा के लिए सेना और धन भेजने की बात करी तब कैकेई और भी नाराज़ हो गयी। वह राम की दुष्ट राजकुमार असमंजस से तुलना करने लगी। तब राम ने एक बहुत समझदारी की बात करी। उन्होंने कुल्हाड़ी, टोकरी और छाल के वस्त्र मँगवाए - वह चीज़ें जो केवल वन में काम आतीं हैं। लेकिन सीता ने जब राम की मद्दत से वह वस्त्र पहने तब उन्हें तकलीफ़ भी हुई औ…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), How India is strengthening relations with Indonesia? इंडोनेशिया के साथ कैसे रिश्ते मजबूत कर रहा हिंदुस्तान? उलेमाओं के सम्मेलन में क्या बोले डोभाल? जानने के लिए पूरा एनालिसिस सुनें navbharatgold.com पर ट्रेंडिंग न्यूज में, सुबह 8 बजे से। इसके साथ दिन की सबसे ज़रूरी और प्रमुख खबरें सुनना या पढ़ना न भूलें।…
 
राम, लक्ष्मण और सीता को विदा करने के लिए, अयोध्या नरेश दशरथ और उनकी 350 पत्नियाँ सभा में उपस्थित हुए। दशरथ के मित्र और सार्थी सुमंत्र भी वह मौजूद थे, जो अब अपने अंदर के उबाल को और रोक नहीं पाए। उन्होंने वह सारी बातें रानी कैकेई से कहीं जो दशरथ नहीं कहे पाए। वह बातें क्या थीं? कैकेई ने जवाब में क्या कहा? दशरथ ने सुमंत्र को ऐसा क्या आदेश दिया जिसकी व…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: How long will the rally in the stock market last? रेकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा भारतीय शेयर बाजार, क्या है इस तेजी की वजह? निवेशकों को कैसी रणनीति अपनानी चाहिए? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
दशरथ की अयोध्या का ऐश्वर्य अतुल्य था। ऐसा ऐश्वर्य जिनके पास हो, वह केवल अपने पिता की एक आज्ञा पर, सब छोड़कर, वन में रहे, यह आसान नहीं था। पर इतना ही नहीं, ऐसी परिस्थिति में व्यवहारात्मक यानि practical होकर, आने वाले समय की अचूक यानि foolproof तैयारियाँ करना, यही राम के गुण थे। सारा दान धर्म करने के बाद जब राम, लक्ष्मण और सीता अपने पिता से मिलने निकल…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why ICMR released guidelines on use of antibiotics? कम बुखार में एंटीबायोटिक पर क्या कहा ICMR ने? क्यों दवा सीमित करने की दी सलाह? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
वैसे तो राम की हर बात उनकी पत्नी सीता मानती थीं। लेकिन अपने पति से अलग होकर रहना उन्हें गवारा ही नहीं था। आख़िर राम सीता को अपने साथ वन लेजाने के लिए तैयार हो ही गए। अब लक्ष्मण भी राम और सीता के साथ जाना चाहते थे। पर क्यों? और राम की क्या आशंकाएँ थीं जिसकी वजह से वह लक्ष्मण का अयोध्या में सह-परिवार ठहरना ज़रूरी समझते थे? फिर भी, लक्ष्मण ने राम को अपन…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why did China fail on Corona? क्या शी जिनफिंग की जिद भारी पड़ रही चीन पर? क्यों काम नहीं आई वैक्सीन? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
इस एपिसोड में हम आपको बताएँगे, अयोध्या में अपनी शुरुआती दौर की शिक्षा पूरी करने के बाद, तुलसीदास महाराज किस तरह अपने गुरु की आज्ञा का पालन करते हुए, अपने गुरु के साथ बनारस आ गए, और बनारस आ कर किस तरह एक सिद्ध महात्मा की शागिर्दी में उन्होंने जटिल से जटिल विषयों पर महारत हासिल की।तुलसीदास जी का जन्म, आज से लग-भग 490 बरस पहले, 1532 ईसवी में उत्तर प्र…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: How is India prepared against terrorist attacks? मुंबई हमलों के 14 साल बाद क्या हम पहले से ज्यादा सुरक्षित हो गए? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
इस एपिसोड में हम आपको बताएँगे, अपने वजूद पर अशुभ होने की मुहर लगने के बाद किस तरह रामबोला भटकते हुए जंगल तक आ पहुँचे, किस तरह इस भटकन के दौरान उनकी मुलाकात प्रभु श्री राम के भक्त गुरु नरहरी दास जी से हुई, जिन्होंने रामबोला का हाथ थामा और उन्हें अपने साथ अयोध्या ले आए। हम आपको बताएँगे किस तरह रामबोला को तुलसीदास नाम मिला।तुलसीदास जी का जन्म, आज से ल…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Will the political situation of Pak change with the new army chief? पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ बने हैं असीम मुनीर। कौन हैं असीम मुनीर? सरकार से रिश्तों पर क्या फर्क पड़ेगा? जानें ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Check same video episode on YouTube channel https://youtu.be/9Z6M9DWkevQ #ramleela #raamleela #raasleela #sajay leela Bhansali #bandrishtiias #vikasdivyakirtisir दोस्तों ! अगर मैं आप से कहु कि जब आप internet पर भगवान श्रीं राम से जुड़ा एक अत्यंत पवित्र शब्द को Google करे और आपको internet पर निर्लज्जता और कामुकता से परिपूर्ण दृश्य मिलेगे, तो निश्चित…
 
पिछले episode में हमने सुना कि कैसे वनवास की बात को लेकर सीता तुरंत राम की भावनाओं को समझ गयीं। राम ने भी सीता को देख अपना मन हल्का किया। सच जानने पर सीता ने राम के साथ वन जाने की ज़िद्द करी। पर राम को लगा कि वह वन की कठिनाइयाँ नहीं सहन कर पाएंगी इस्लिये उन्होनें सीता को मना कर दिया। पर सीता ने हार न मानी। उन्होंने राम को मानाने के लिए हर तरह के उदा…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: What did the SC say on the appointment of the EC? क्यों आयी टीएन शेषन की याद? चुनाव आयुक्त की नियुक्ति पर क्या कहा सुप्रीम कोर्ट ने? टिप्पणी कितनी अहम? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
जब राम सीता से मिलने निकले तब वह अपनी भावनाओं को छुपा नहीं पाए। सीता भी कैकेई के मांगे हुए वचन से उतनी ही अनजान थीं जितनी माँ कौशल्या। राम का उतरा चेहरा देख, सीता ने कारण पुछा। जवाब में राम ने अपने पिता दशरथ और माँ कैकेई के बारे में क्या बताया? उन्होंने कैसे अपनी पत्नी सीता को सबका आदर करने की सलाह दी तथा भरत और शत्रुघ्न से प्रेम से बर्ताव करने का …
 
इतना तो अब स्पष्ट था कि राम अपने पिता, दशरथ की बेबसी समझ सकते थे। और उनका वचन निभाने के लिए राम ने वनवास स्वीकारा। आखिर राम अपना धर्म नहीं निभाते तो उनके परिवार और कुल की क्या इज़्ज़त रहे जाती? जब कौशल्या को भी इस बात का अहसास हुआ तब उन्होंने राम को आशीर्वाद देकर विधि विधान के साथ कैसे विदा किया? और क्या हुआ जब राम अपनी माँ से मिलकर, सीता से मिलने गए…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Chhattisgarh government crossed the reservation limit of 80 percent? छत्तीसगढ़ सरकार ने रिजर्वेशन की लिमिट 80 फीसदी के पार की। क्या दूसरे राज्य भी इसी तरह का कदम उठाएंगे? जानने के लिए पूरा एनालिसिस सुनें navbharatgold.com पर डेली न्यूज़कास्ट में, सुबह 8 बजे से। इसके साथ दिन की सबसे ज़रूरी और प्रमुख खबरें सुनना या पढ़ना न भ…
 
पिछले episode में हमने सुना कि कैसे राम को वनवास मिले की ख़बर सुनकर कौशल्या अपना नियंत्रण खो बैठीं और लक्ष्मण अपना आपा। अपने स्वार्थ के लिए कौशल्या राम को जाने नहीं दे रहीं थीं और जब राम न मानें तो उन्होंने राम के साथ चलने की ज़िद्द की। वहीं दूसरी ओर लक्ष्मण आग-बबूला हो कर अपने पिता दशरथ को मारने की बात कर रहे थे। पर राम जानते थे कि बिना कौशल्या के द…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why can't India reach the Football World Cup? भारत में फुटबॉल का क्रेज बढ़ाने के लिए क्या करना होगा? क्या भारत से रोनाल्डो और मेसी जैसे वर्ल्ड क्लास प्लेयर निकल सकते हैं? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
जब राम और लक्ष्मण कौशल्या से मिलने उनके भवन गए तब वह राम को देख बहुत खुश हुई कि बस कुछ समय में उनका बीटा राम अयोध्या का राजा बनेगा। वह इस बात से अनजान थीं कि कैकेई की वजह से राम को वनवास मिला है। ताकि कौशल्या को कोई ठेस न पहुंचे, राम ने अपनी माँ को बड़े प्रेम से सारी कहानी बताई। बिना किसी द्वेष के उन्होंने बताया कि वह ऋषियों की तरह 14 साल वन में रहे…
 
इस एपिसोड में हम आपको बताएँगे, जब रामबोला के पिता उन्हें अशुभ समझने लगे, तो किस तरह बाई मुनिया ने रामबोला का हाथ थामा और उन्हें ने सहारा दिया। हम आपको बताएँगे कि किस तरह बाई मुनिया के देहांत के बाद इतिहास में खुद को दोहराया और एक बार फिर रामबोला के ऊपर अशुभ होने की मोहर लग गई।तुलसीदास जी का जन्म, आज से लग-भग 490 बरस पहले, 1532 ईसवी में उत्तर प्रदेश…
 
इस एपिसोड में हम आपको बताएँगे, एक ऐसे बालक की कहानी, पैदाइश के वक़्त से ही जिनकी ज़बान पर भगवान श्री राम का नाम था, पैदा होते ही राम नाम जपने की वजह से जिनका नाम लोगों ने रामबोला रख दिया। हम आपको बताएँगे, किस तरह अशुभ नक्षत्र में पैदा होने वाले रामबोला को उनके पिता, आत्माराम जी, अपने और अपने परिवार के लिए शुभ समझने लगे।तुलसीदास जी का जन्म, आज से लग-भ…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why tension over collegium system between the government and SC? कॉलेजियम सिस्टम पर सरकार और सुप्रीम कोर्ट में तनाव क्यों? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Is religious conversion a big threat to the country?क्या देश के लिए बड़ा खतरा है धर्मांतरण? राजनीतिक और सामाजिक तौर पर कितना प्रभावी मुद्दा?
 
राम ने बिना हिचकिचाहट वन में 14 साल रहने की बात तो स्वीकारी पर साथ ही उन्होंने अपने पिता दशरथ से क्या प्रश्न पूछे? कैकई क्यों चाहती की राम जल्द ही वन को जाएँ? दशरथ ने कैसे इस बात पर अपनी नाराज़गी जताई? इसके बावजूद, राम भावुक हुए बिना, अपनी पत्नी सीता और माँ कौशल्या से कैसे अलविदा कहने गए? और इस घटना के आधार पर वाल्मीकि जी राम को एक योगी क्यों बुलाते…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: What does the G-20 presidency mean for India? दुनिया के सबसे ताकतवर मंच पर क्या कहा पीएम मोदी ने? कितना सफल रहा सम्मेलन?
 
राम और लक्ष्मण, सुमंत्र के साथ दशरथ के महल पहुँचे। पर जब दशरथ ने राम को आशीर्वाद नहीं दिया तब वह सहम गए। राम को लगा की उनसे भूल हो गयी है, इसलिए उन्होंने अपने पिता से तरह-तरह के सवाल पूछे। पर दशरथ चुप रहे। उनकी चुप्पी देख, कैकई ने राम को अपनी इच्छा बताई कि भरत राजा बनेगा और उसके बदले राम को मिलेगा 14 वर्षों का वनवास। बहुत दुःख होता है, जब माता-पिता…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Shraddha Walker murder case: How does one become such a murderer? दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस में कैसे पार हुई हैवानियत की हद? क्या चलता है कातिल के दिमाग में? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
भरत राजा बने, ये दशरथ को मंज़ूर था। पर राम को वह किस बिनाह पर वनवास भेजें? इस बात से समझोता करना, उनके लिए एक पिता और नैतिकतावादी यानी moralist, दोनों नज़रियों से कठिन था। पर कैकई ने एक न सुनी। वह उन राजाओं के उदाहरण देतीं गयीं जिन्होंने हर क़ीमत पर अपने धर्म का पालन किया। कैकई और दशरथ की इस टकराव के बीच राम के राज्याभिषेक के तैयारियाँ लगभग पूरी हो गय…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Live Streaming and Recording of district Court Proceedings? देश के मुख्य न्यायाधीश ने जिला अदालतों की कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग का सुझाव दिया। कितना अहम होगा यह कदम? इसमें किस तरह की चुनौतियां आएंगी? जानने के लिए पूरा एनालिसिस सुनें navbharatgold.com पर ट्रेंडिंग न्यूज में…
 
कैकई अब मंथरा के साथ बनाया जाल बिछाने जा रहीं थीं। अपने कोप भवन में वह बाल बिखेरे, फटे कपड़ों में, ज़मीन पर लेटे, दशरथ का इंतेज़ार कर रहीं थीं। दशरथ ने जब उन्हें इस हाल में पाया तो वह हक्का-बक्का रहे गए। इस बात का कैकई ने कैसे फ़ायदा उठाया? उन्होंने अपने पति से भरत के लिए राज्य और राम के लिए वनवास कैसे माँगा? इस बात का दशरथ और कैकई के रिश्ते पर क्या अस…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why the tussle between the governor and the government?क्या राज्यपालों की भूमिका के बारे में सोचने की जरूरत है? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
पिछले episode में हमने सुना कि कैसे मंथरा ने कैकेई के मन में राम के ख़िलाफ़ ज़हर घोला और भरत के लिए एक अतर्कसंगत डर यानी irrational fear उत्पन किया। पर दशरथ ने राम को राजा बनाने का फ़ैसला ले ही लिया था। कैकेई क्या कर सकतीं थीं? तब मंथरा ने उन्हें तिमिध्वज के खिलाफ लड़े युद्ध की याद दिलाई। कि कैसे युवा क्षत्राणी कैकेई ने दशरथ की जान बचाई जिसके बदले में र…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why no quota on changing religion? मुस्लिम या ईसाई धर्म अपनाने वाले दलितों को SC का दर्जा क्यों नहीं मिल सकता? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Why were Rajiv Gandhi's killers released? किस आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने दी रिहाई? क्या ऐसे दूसरे मामलों पर भी पड़ सकता है असर?
 
कुंभजा यानी hunchbacked मंथरा (जैसे वह वलिमिक रामायण में जानी जातीं थीं) भागी-भागी कैकेई के पास पहुँची। उन्होंने कैकेई को बेरूखी से उठाया और राम के राज्याभिषेक के बारे में बताया। जो मंथरा अपने आप को कैकेई की शुभचिंतक मानती थी, उन्हीं ने धीरे-धीरे कैकई के मन में राम के प्रति विष भरदिया। पर इतनी बड़ी क्षत्राणी होने के बावजूद, कैकई, अनपे पुत्र-प्रेम मे…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Is Putin loosing war against Ukraine? खेरसॉन में क्यों बैकफुट पर रूस? क्या खत्म होने वाला है यूक्रेन युद्ध?एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi: Will America's mid-term elections have any impact on India? अमेरिका के मध्यावधि चुनावों का क्या हिंदुस्तान पर होगा कोई असर? ट्रंप और बाइडेन में कौन आगे? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
राम और सीता ने राम के राजा बनने की तैयारी कैसे करी? उन्हें राज्याभिषेक वाले दिन कैसे उठाया गया? सारे ब्राह्मण अयोध्या में क्यों मौजूद थे? राज्य की सड़कों को कैसे सजाया गया? सारी प्रजा किस तरह से उत्तेजित थी? वह राम के राजा बनने की खुशी में क्या कह रही थी? और कैकई की दासी, मंथरा को इस बात का कैसे पता चला? आये इस जीवंत दृश्य का अनुभव करने के लिए सुनते…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Breaking News in Hindi:India to host G20 Summit in 2023, How Important it is? जी-20 की अध्यक्षता कितना बड़ा अवसर है हिंदुस्तान के लिए? क्या अजेंडा होगा? एनालिसिस ट्रेंडिंग न्यूज में
 
दशरथ ने जब राम को उनके राज्याभिषेक के बारे में बताया तब उन्होंने अपने बेटे के साथ ऐसी कौनसी राय बाँटीं, जिसे सुनकर आपको भी फ़ायदा हो सकता है? वह राम को भरत (जो अपने ननिहाल गए हुए थे) के आने से पहले राजा बनाने के लिए उतावले क्यों थे? दशरथ की घबराहट को शांत करने के लिए ऋषि वशिष्ठ, राम और सीता ने क्या कदम उठए? जब राम ने अपने भाई, लक्ष्मण और अपनी माँ, क…
 
Hindi News (हिंदी समाचार), Supreme Court upholds 10% quota for Economically Weaker Sections? सुप्रीम कोर्ट ने EWS कोटा को जायज करार दिया, इस फैसले से किस तरह की चुनौतियां सामने आएंगी? जानने के लिए पूरा एनालिसिस सुनें navbharatgold.com पर डेली न्यूज़कास्ट में, सुबह 8 बजे से। इसके साथ दिन की सबसे ज़रूरी और प्रमुख खबरें सुनना या पढ़ना न भूलें।…
 
राम ने परशुराम से युद्ध करने की चुनौती स्वीकार ली। उन्होंने परशुराम के हाथ से विश्वकर्मा का बनाया विष्णु-धनुष छीना और उसपे प्रत्यंचा चढ़ादी। यह देखकर परशुराम को यक़ीन हो गया की राम वाक़ई में विष्णु के अवतार हैं और वह वहाँ से चले गए। फिर राजा दशरथ जब अपने बेटों और बहुओं के साथ अयोध्या पहुँचे तो बड़े वैभव से उनका स्वागत किया गया। एक वर्ष तक सभी राजकुमार …
 
Loading …

त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका

Google login Twitter login Classic login