Artwork

RTBF द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री RTBF या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal
Player FM - पॉडकास्ट ऐप
Player FM ऐप के साथ ऑफ़लाइन जाएं!

Amour, sexe et enfance avec Pascal Quignard

42:40
 
साझा करें
 

Manage episode 397741706 series 69689
RTBF द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री RTBF या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal
« Ceux qui diminuent l’amour soit dans la sublimation, soit dans la vulgarité, blasphèment » : c’est ce qu’écrit Pascal Quignard dans son nouveau livre (« Compléments à la théorie sexuelle et sur l’amour », Seuil). Il y dépose une série de réflexions autour de l’amour et de la sexualité. S’interroge à propos du consentement. Et prétend que le véritable amour est indestructible. Reste, bien sûr, à tenter de le définir, ce véritable amour durable voire éternel… Pascal Quignard est notre invité cette semaine. Comment prendre la bonne décision ? La question est posée dans notre Grand dictionnaire avec Martin Legros du Philosophie magazine.

Merci pour votre écoute

Et Dieu dans tout ça ? c'est également en direct tous les dimanches de 13h à 14h sur www.rtbf.be/lapremiere

Retrouvez tous les épisodes de Et Dieu dans tout ça ? sur notre plateforme Auvio.be :
https://auvio.rtbf.be/emission/180

Et si vous avez apprécié ce podcast, n'hésitez pas à nous donner des étoiles ou des commentaires, cela nous aide à le faire connaître plus largement.

  continue reading

346 एपिसोडस

Artwork
iconसाझा करें
 
Manage episode 397741706 series 69689
RTBF द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री RTBF या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal
« Ceux qui diminuent l’amour soit dans la sublimation, soit dans la vulgarité, blasphèment » : c’est ce qu’écrit Pascal Quignard dans son nouveau livre (« Compléments à la théorie sexuelle et sur l’amour », Seuil). Il y dépose une série de réflexions autour de l’amour et de la sexualité. S’interroge à propos du consentement. Et prétend que le véritable amour est indestructible. Reste, bien sûr, à tenter de le définir, ce véritable amour durable voire éternel… Pascal Quignard est notre invité cette semaine. Comment prendre la bonne décision ? La question est posée dans notre Grand dictionnaire avec Martin Legros du Philosophie magazine.

Merci pour votre écoute

Et Dieu dans tout ça ? c'est également en direct tous les dimanches de 13h à 14h sur www.rtbf.be/lapremiere

Retrouvez tous les épisodes de Et Dieu dans tout ça ? sur notre plateforme Auvio.be :
https://auvio.rtbf.be/emission/180

Et si vous avez apprécié ce podcast, n'hésitez pas à nous donner des étoiles ou des commentaires, cela nous aide à le faire connaître plus largement.

  continue reading

346 एपिसोडस

सभी एपिसोड

×
 
Loading …

प्लेयर एफएम में आपका स्वागत है!

प्लेयर एफएम वेब को स्कैन कर रहा है उच्च गुणवत्ता वाले पॉडकास्ट आप के आनंद लेंने के लिए अभी। यह सबसे अच्छा पॉडकास्ट एप्प है और यह Android, iPhone और वेब पर काम करता है। उपकरणों में सदस्यता को सिंक करने के लिए साइनअप करें।

 

त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका