दर्शन (Philosia)

साझा करें
 

Manage series 3279304
Joshuto द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।
https://linktr.ee/Joshuto, Logo https://Monishry.tumblr.com मेरा अनुभव इच्छुक लोगों के साथ बाँटने के लिए मेरी वेब साईट HTTPS://Philosia.in की अंग्रेज़ी पोस्ट को भी हिंदी में इस पाड्कैस्ट के माध्यम से आप तक पहुँचाने का प्रयत्न करूँगा। ध्यान का और विशेषकर awareness meditation याने सहज ध्यान जो बुद्ध और कबीर ने सुझाया था। अपना काम करते हुए अपनी जागरूकता हम क्या कर रहे हैं, और कौन कर रहा है इस पर बनाए रखना। यही सहज ध्यान है। इस यात्रा पर निकलना ही हर मनुष्य का स्वधर्म है। चाहे सामूहिक धर्म वह इस्लाम, chirstian, सिख, बौद्ध या हिंदू को जन्म जिस परिवार में हुआ है इस कारण मानता हो, लेकिन स्वधर्म तो खुद की अन्तरात्मा की खोज ही है, इसे किसी संत ने प्रज्ञान कहा, बुद्ध ने निर्वाण कहा, तो जीसस ने Love कहा है। संतों ने अपनी बात दोहों, गीतों, कहानियों इत्यादि द्वारा लोगों तक पहुँचाई। सभी संतों का संदेश, मेरे अनुभवों के रस में डुबाकर पहुँचाना है।

3 एपिसोडस