संवाद # 60: Kaushal Inamdar on beauty & degradation of Indian music, ‘plagiarism’ by musicians, why music is so fast these days

1:06:40
 
साझा करें
 

Manage episode 333917793 series 3309077
Arihant द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।

Kaushal S. Inamdar is an Indian music composer and singer in Marathi and Hindi movies. His work in music spans from composing music for films, television, drama to events, concerts in Hindi and Marathi, composing music for ballets, advertisements, and also albums.

0:00 Introduction 1:26 नए संगीत जैसी कोई चीज नहीं है? 5:04 सारा खेल 12 सुरों का है 6:28 🎵 पंछी बनूँ उड़ती फिरूँ 🎵 8:14 🎵 कजरारे कजरारे तेरे कारे कारे नैना 🎵 11:13 क्या सभी संगीतकार धुनें चुराते हैं? 12:17 लता जी Vs मदन मोहन जी 🎵 माई रे 🎵 19:35 Musicians don’t get angry if you accuse them of plagiarism 20:38 क्या महान संगीतकार भी धुन उठाते हैं? 27:37 बॉलीवुड में संगीत का एकीकरण हो गया है - गानों में फ़र्क़ ही नहीं पता चलता 29:13 आज संगीत इतना तेज क्यूँ हो गया है? पहले slow म्यूज़िक होता था 33:59 क्या भारतीय संगीत का पतन हो रहा है? 38:00 भारतीय संगीत का भविष्य 44:55 Lack of talent in Bollywood music 46:00 संगीत का पंजाबीकरण 51:15 Popular music is immoral 53:01 ऐसा कोई नहीं है जिसको म्यूज़िक की समझ ना हो 1:03:04 Lyrics and Music don’t go together these days!

78 एपिसोडस