Artwork

Nayi Dhara Radio द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री Nayi Dhara Radio या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal
Player FM - पॉडकास्ट ऐप
Player FM ऐप के साथ ऑफ़लाइन जाएं!

Apne Ko Dekhna Chahta Hoon | Chandrakant Devtale

3:38
 
साझा करें
 

Manage episode 384217187 series 3463571
Nayi Dhara Radio द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री Nayi Dhara Radio या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal

अपने को देखना चाहता हूँ | चंद्रकांत देवताले

मैं अपने को खाते हुए देखना चाहता हूँ

किस जानवर या परिंदे की तरह खाता हूँ मैं

मिट्ठू जैसी हरी मिर्च कुतरता है

या बंदर गड़ाता है भुट्टे पर दाँत

या साँड़ जैसे मुँह मारता है छबड़े पर

मैं अपने को सोए हुए देखना चाहता हूँ

माँद में रीछ की तरह

मछली पानी में सोती होती जैसे

मैं धुँध में सोया हुआ हूँ

हँस रहा हूँ नींद में

मैं सपने में पतंग उड़ाते बच्चे की तरह सोया

अपने को देखना चाहता हूँ

मैं अपने को गिरते हुए देखना चाहता हूँ

जैसे खाई में गिरती है आवाज़

जैसे पंख धरती पर

जैसे सेंटर फ़ॉरवर्ड गिर जाता है हॉकी समेत

ऐन गोल के सामने

मैं गिरकर दुनिया भर से माफ़ी माँगने की तरह

अपने को गिरते हुए देखना चाहता हूँ

मैं अपने को लड़ते हुए देखना चाहता हूँ

नेक और कमज़ोर आदमी जिस तरह एक दिन

चाक़ू खुपस ही देता है फ़रेबी मालिक के सीने में

जैसे बेटा माँ से लड़ता है

और छिपकर ज़ार-ज़ार आँसू बहाता है

जैसे अपनी प्रियतम से लड़ते हैं

और फिर से लड़ते हैं प्रेम बनाने के लिए

मैं अपने को साँप से लड़ते नेवले की तरह

लड़ते हुए देखना चाहता हूँ

मैं अपने को डूबते हुए देखना चाहता हूँ

पानी की सतह के ऊपर बचे सिर्फ़ अपने दोनों हाथों के

इशारों से तट पर बैठे मज़े में सुनना चाहता हूँ

मुझे मत बचाओ

कोई मुझे मत बचाओ

आते हुए अपने को देखना संभव नहीं था

मैं अपने को जाते हुए देखना चाहता हूँ

जैसे कोई सुई की आँख से देखे कबूतर की अंतिम उड़ान

और कहे अब नहीं है अदृश्य हो गया कबूतर

पर हाँ दिखाई दे रही है उड़ान

मैं अपनी इस बची उड़ान की छाया को देखते हुए

अपने को देखना चाहता हूँ।

  continue reading

376 एपिसोडस

Artwork
iconसाझा करें
 
Manage episode 384217187 series 3463571
Nayi Dhara Radio द्वारा प्रदान की गई सामग्री. एपिसोड, ग्राफिक्स और पॉडकास्ट विवरण सहित सभी पॉडकास्ट सामग्री Nayi Dhara Radio या उनके पॉडकास्ट प्लेटफ़ॉर्म पार्टनर द्वारा सीधे अपलोड और प्रदान की जाती है। यदि आपको लगता है कि कोई आपकी अनुमति के बिना आपके कॉपीराइट किए गए कार्य का उपयोग कर रहा है, तो आप यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं https://hi.player.fm/legal

अपने को देखना चाहता हूँ | चंद्रकांत देवताले

मैं अपने को खाते हुए देखना चाहता हूँ

किस जानवर या परिंदे की तरह खाता हूँ मैं

मिट्ठू जैसी हरी मिर्च कुतरता है

या बंदर गड़ाता है भुट्टे पर दाँत

या साँड़ जैसे मुँह मारता है छबड़े पर

मैं अपने को सोए हुए देखना चाहता हूँ

माँद में रीछ की तरह

मछली पानी में सोती होती जैसे

मैं धुँध में सोया हुआ हूँ

हँस रहा हूँ नींद में

मैं सपने में पतंग उड़ाते बच्चे की तरह सोया

अपने को देखना चाहता हूँ

मैं अपने को गिरते हुए देखना चाहता हूँ

जैसे खाई में गिरती है आवाज़

जैसे पंख धरती पर

जैसे सेंटर फ़ॉरवर्ड गिर जाता है हॉकी समेत

ऐन गोल के सामने

मैं गिरकर दुनिया भर से माफ़ी माँगने की तरह

अपने को गिरते हुए देखना चाहता हूँ

मैं अपने को लड़ते हुए देखना चाहता हूँ

नेक और कमज़ोर आदमी जिस तरह एक दिन

चाक़ू खुपस ही देता है फ़रेबी मालिक के सीने में

जैसे बेटा माँ से लड़ता है

और छिपकर ज़ार-ज़ार आँसू बहाता है

जैसे अपनी प्रियतम से लड़ते हैं

और फिर से लड़ते हैं प्रेम बनाने के लिए

मैं अपने को साँप से लड़ते नेवले की तरह

लड़ते हुए देखना चाहता हूँ

मैं अपने को डूबते हुए देखना चाहता हूँ

पानी की सतह के ऊपर बचे सिर्फ़ अपने दोनों हाथों के

इशारों से तट पर बैठे मज़े में सुनना चाहता हूँ

मुझे मत बचाओ

कोई मुझे मत बचाओ

आते हुए अपने को देखना संभव नहीं था

मैं अपने को जाते हुए देखना चाहता हूँ

जैसे कोई सुई की आँख से देखे कबूतर की अंतिम उड़ान

और कहे अब नहीं है अदृश्य हो गया कबूतर

पर हाँ दिखाई दे रही है उड़ान

मैं अपनी इस बची उड़ान की छाया को देखते हुए

अपने को देखना चाहता हूँ।

  continue reading

376 एपिसोडस

सभी एपिसोड

×
 
Loading …

प्लेयर एफएम में आपका स्वागत है!

प्लेयर एफएम वेब को स्कैन कर रहा है उच्च गुणवत्ता वाले पॉडकास्ट आप के आनंद लेंने के लिए अभी। यह सबसे अच्छा पॉडकास्ट एप्प है और यह Android, iPhone और वेब पर काम करता है। उपकरणों में सदस्यता को सिंक करने के लिए साइनअप करें।

 

त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका