छह बिन्दुओं में सुसमाचार का सारांश/A Six-Point Summary of the Gospel.

4:55
 
साझा करें
 

Manage episode 335121627 series 3247075
मार्ग सत्य जीवन द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।

छह बिन्दुओं में सुसमाचार का सारांश

A Six-Point Summary of the Gospel.

ख्रीष्ट भी सब के पापों के लिए एक ही बार मर गया,अर्थात् अधर्मियों के लिये धर्मी जिस से वह हमें परमेश्वर के समीप ले आए। (1 पतरस 3:18)

यहाँ सुसमाचार का सारांश दिया गया है जो इसे समझने और इसका आनन्द लेने और इसको बाँटने में आपकी सहायता करेगा।

1) परमेश्वर ने हमें अपनी महिमा के लिए रचा है।

“मेरे पुत्रों को दूर से तथा मेरी पुत्रियों को पृथ्वी के छोर से ले आओ, अर्थात् हर एक को जो मेरे नाम का कहलाता है, जिसको मैंने अपनी महिमा के लिए सृजा है, तथा जिसको मैंने रचा और बनाया है” (यशायाह 43:6-7)। परमेश्वर ने हम सब को अपने स्वरूप में बनाया है जिससे कि हम उसके चरित्र और नैतिक सुन्दरता को प्रकट करें या प्रतिबिम्बित करें।

2) इसलिए प्रत्येक मनुष्य को परमेश्वर की महिमा के लिए जीना चाहिए।

“अत: चाहे तुम खाओ या पीओ या जो कुछ भी करो, सब परमेश्वर की महिमा के लिए करो” (1 कुरिन्थियों 10:31)। परमेश्वर की महिमा के लिए जीने का अर्थ है उससे प्रेम करना (मत्ती 22:37), उस पर भरोसा करना (रोमियों 4:20), उसके प्रति धन्यवादी रहना (भजन 50:23), उसकी आज्ञा मानना (मत्ती 5:16), और सब कुछ से बढ़कर उसे संजोना (फिलिप्पियों 3:8; मत्ती 10:37)। जब हम इन कार्यों को करते हैं तो हम परमेश्वर की महिमा को प्रकट करते हैं।

--- Send in a voice message: https://anchor.fm/marg-satya-jeevan/message

482 एपिसोडस