Guzar Gaya Jo Chhota saa Fasanaa Tha | गुज़र गया जो छोटासा फ़साना था

7:46
 
साझा करें
 

Manage episode 284894865 series 2426815
kumar ABHISHEK upadhyay and Kumar ABHISHEK upadhyay द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।

Guzar Gaya Jo Chhota saa Fasanaa Tha | गुज़र गया जो छोटासा फ़साना था कुछ नामी गुमनाम कवि की रचना यहाँ प्रस्तुति है। इस संसार में बहुत सी कलाएं हैं, और इन कलाओं में , सबसे अच्छी कला हैं दूसरों का दिल छू लेना। कवि और चित्रकार में भेद है । कवि अपने स्वर में और चित्रकार अपनी रेखा में जीवन के तत्व और सौंदर्य का रंग भरता है।— डा रामकुमार वर्मा

--- This episode is sponsored by · Anchor: The easiest way to make a podcast. https://anchor.fm/app --- Send in a voice message: https://anchor.fm/kumar-abhishek/message Support this podcast: https://anchor.fm/kumar-abhishek/support

76 एपिसोडस