होली: मोहन अजब खिलाड़ी

 
साझा करें
 

Manage episode 288873590 series 69231
Shri Ram Parivar द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।

Listen to the Holi, Mohan Ajab Khilari` in the voice of Shri Abhay Shrivastava

मोहन अजब खिलाड़ी, देखो होली कौतुक भारी

मोहन अजब...

नर तन धर सोई नट नागर, श्री वृषभानु दुलारी, (२)

दिखलावत नित नये तमाशे, (२)

चतुरन बहुत विचारी, बुद्धि सबकी पचि हारी

मोहन अजब...

मन मटकी भर प्रेम रंग से, सुचिता की पिचकारी (२)

तक तक मारिये श्याम सुंदर पर, (२)

चूके न अवसर भारी, कपट को घूंघट हटा री

मोहन अजब...

ज्ञान गुलाल अबीर भक्त को, याको चन्दन लगा री (२)

विनती ये मधुरेश चरण की, (२)

आवागमन मिटा री, बोलो, जय कृष्ण मुरारी

मोहन अजब...

variation

माय मोह जाल के माँही, सृष्टि फँसा कर सारी (२)

दिखलावत नित नये तमाशे, (२)

चतुरन बहुत विचारी, बुद्धि सबकी थक हारी

मोहन अजब...

नर तन धर सोई नट नागर, सुंदर श्री गिरधारी, (२)

नन्द नन्दन श्री कुंज बिहारी, (२)

खेलत होली भारी, बोलो, जय कृष्ण मुरारी

मोहन अजब...

90 एपिसोडस