show episodes
 
This Hindi Podcast brings to you in-depth conversations on politics, public policy, technology, philosophy and pretty much everything that is interesting. Presented by tech entrepreneur Saurabh Chandra and public policy researcher Pranay Kotasthane, the show features conversations with experts in a casual yet thoughtful manner.
 
H
Hindu Podcast

1
Hindu Podcast

Sanjit Mahapatra

Unsubscribe
Unsubscribe
मासिक
 
This channel is for a “Sanatana-Hindu-Vedic-Arya”. This is providing education and awareness; not entertainment. This talks about views from tradition and lineage. It will cover different Acharayas talks on Spirituality, Scriptures, Nationalism, Philosophy, and Rituals. These collections are not recorded in professional studios using high-end equipment, it is from traditional teachings environment. We are having the objective to spread the right things to the right people for the Sanatana Hi ...
 
Loading …
show series
 
With DALL-E, a machine learning tool to create images from text having gone open access last week, we discuss the implications of AI for art and artists with cartoonist and writer Khyati Pathak. Check her work at thescribblebee.com Puliyabaazi is on these platforms: Twitter: https://twitter.com/puliyabaazi Instagram: https://www.instagram.com/puliy…
 
हम अक़्सर कहते है कि समाज, सरकार, और बाज़ार के बीच तालमेल बढ़ाने की ज़रूरत है। इस संतुलन को कैसे समझा जाए? समाज को किस तरह से बदलाव का भागीदार बनाया जाए? आप और हम क्या भूमिका अदा कर सकते हैं? इन्हीं कुछ सवालों पर चर्चा लेखिका और philanthropist रोहिणी निलेकणी के साथ। उनकी नई किताब Samaaj, Sarkaar, Bazaar - A Citizen-First Approach इस विषय पर गहन चिं…
 
प्रधानमंत्री ने जब से डिजिटल इंडिया का ख्वाब पूरे देश को दिखाया है, तब से UPI के ज़रिये payments का होना आम बात हो चुकी है. हाल ही में सुनने में आया था की सरकार हर UPI के द्वारा हुई payment पर एक Extra Fee लागू करने का सोच रही है. क्या हो सकती है ये fee? क्या इससे UPI के लोकप्रियता पे फर्क पड़ेगा? ऐसे ही कुछ विषयो पर सुनिए आज की पुलियाबाज़ी. ये हमारी …
 
कहते हैं मुफ्त का सामान सबको पसंद आता है, पर शायद प्रधानमंत्री जी को नहीं. हाल ही में उनके "रेवड़ी" वाले कमेंट पर कुछ चिंगारी भड़की थी. अब ये इशारा पंजाब और दिल्ली की सरकार को था? क्या ये निशाना सोच समझ के साधा गया था? या बस ऐसे ही प्रधानमंत्री जी रेवड़ी खाना चाहते थे? ऐसे ही कुछ विषयों पर सुनिए सौरभ और प्रणय की पुलियाबाज़ी ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, …
 
कहते हैं हर नीति अच्छी राजनीति नहीं होती। शायद ऐसा ही कुछ हुआ दिल्ली की excise नीति के साथ। इसी विषय पर सुनिए सौरभ और प्रणय की पुलियाबाज़ी। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "दिल्ली की Excise नीति से हमें क्या सबक मिलता है?" It is often said that a good policy need not prove to be good politics. Perhaps somethi…
 
भरत ने चीन-ताइवान मुद्दे पर अभी तक आगे आ कर कुछ ठोस नहीं कहा है। माना जा रहा है कि अगर ये मुद्दा और आग पकड़ता है तो हमें शायद एक और "यूक्रेन-रूस" देखने मिल सकता है।इस विषय पर भारत का रवैया कैसा होना चाहिए... इसी पर है हमारी आज की पुलियाबाज़ी। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "ताईवान मुद्दे पर भारत का रवैया क्या…
 
भारत के श्रम कानूनों को कैसे बेहतर बनाया जाए, इसी विषय पर चर्चा भूवना आनंद के साथ। In this episode, Bhuvana Anand, co-founder and director of Trayas, explains how well-meaning laws often create barriers to employment. She also discusses laws that specifically exclude women’s employment. We discuss some reform trajectories. Read more: State of Discr…
 
हाल ही में खबर आई थी कि 2021 में 1 लाख 60 हज़ार भारतीयों ने नागरिकता त्याग दी। देखा जाए तो ये कहानी पहली बार नहीं दोहराई जा रही। एमिग्रशन एक सत्य है और ऐसे विषय पर सौरभ और प्रणय की पुलियाबाज़ी तो बनती है। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "क्या एमिग्रशन से भारत का नुक़सान हो रहा है?" Recently there was news that …
 
Daaji ne वेदों और उपनिषदों में di gai gahan jankariyon ko bade hi saral tarike se ham sbhi tk aur aaj ki generation tk pahuchaya hai ।Aap tels from the Vedas and Upanishads book ko kai language me HFN life . Amazon pr buy kar sakate hai ।🙏🏻😊
 
कई संस्थाएं ऐसी है जो इस गणतंत्र को और मज़बूत कर सकती है। क्या हो सकती है ऐसी संस्थाएं? कैसे हो सकता हमारा देश और बहतर? ऐसी ही कुछ विषयों पर सुनिए प्रणय और सौरभ की पुलियाबाज़ी। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "सरकार 2.0 कैसी हो?" We should always thrive to be better. There are many institutions which can furth…
 
हाल ही में पंजाब ने अपना बजट पेश किया, और उसी के साथ एक "white paper" भी। इस बजट के चर्चा में रहने के कई कारण थे। एक ये भी, कि पिछले कुछ समय में पंजाब ने आमदनी की सूची में ख़ुद को उन्नीसवें स्थान पर गिरते हुए देखा है। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "पंजाब अव्वल नम्बर से उन्नीसवें पर कैसे आगया?" Recently, the…
 
सोशल मीडिया का प्रभाव कितना ज़्यादा है, ये अब कोई छुपी हुई सी बात नहीं... टेबल पर खाना बाद में आता है और सब उसकी तस्वीर लेने के लिए फ़ोन पहले से तैयार रखते हैं। कहा जाता है कि लोग अब तस्वीरों यादों के लिए नहीं, "Likes" के लिए खिंचवाते हैं। कब हुआ सोशल मीडिया इतना ज़रूरी? क्यों हुआ ऐसा? क्या प्रभाव है सोशल मीडिया का हमारी आज की ज़िंदगी में?ऐसी ही कुछ वि…
 
अग्निपथ योजना पर हाल ही में देश में काफ़ी बेचैनी और अशांति बनी हुई है। इस योजना के अंतर्गत देश के नागरिकों को 3 वर्ष के लिए सेना में भर्ती होने का मौका मिलेगा। इस योजना पर गहराई में पुलियाबाज़ी पहले भी हुई है और शायद आगे भी होती रहेगी। आज की पुलियाबाज़ी भी इस विषय पर आधारित है। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है- "…
 
मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ भी माना जाता है। हर स्तम्भ का अपना विशेष कार्य होता है और कुछ विशेष ज़िम्मेदारियाँ भी। इसमें कुछ आश्चर्य की बात नहीं अगर एक स्तम्भ से दूसरे स्तम्भ के चलन पर प्रभाव पड़े पर वो प्रभाव अगर सही चलन में बाधा बन जाए, तो चिंताजनक बात हो सकती है। इस बार की पुलियाबाज़ी इसी विषय पर संवाद आरम्भ करती है। ये हमारी नई कोशिश "एक सवा…
 
आर्थिक कूटनीति के बारे में अगर बात की जाए तो कहा जा सकता है कि वह और कुछ नहीं बस व्यापार बढ़ाने, निवेश को बढ़ावा देने और बहुपक्षीय व्यापार समझौतों, आदि पर सहयोग करके देश की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए सरकारी साधनों का उपयोग करना ही होता है। इसका उपयोग विदेश नीति के उद्देश्यों को पूरा एवं बढ़ावा देने के लिए भी किया जाता है। इस बार की पुलियाबाज़ी इसी वि…
 
There is a lot of speculation over the number of lives lost due to COVID-19 in India. The government-reported estimates vary significantly from those estimated by the World Health Organisation (WHO). Estimating this number well is important for designing public policy measures to combat future pandemics. So, in this episode, we spoke with Mihir Mah…
 
मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र लंबे समय से भारत की अर्थव्यवस्था की कमजोर कड़ी रहा है। इस क्षेत्र की चुनौतियों और अवसरों को समझने के लिए, हमने किसी ऐसे व्यक्ति से बात की, जिसने भारत में एक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी का निर्माण, संचालन और सफलतापूर्वक निकास किया है। हमारे साथ जुड़ रहीं हैं हेमा हट्टांगडी, कॉनज़र्व सिस्टम्स की प्रबंध निदेशक और सीईओ - एक ऊर्जा मीटर…
 
Bhai viredra Singh bais जी की संकलन में आंशिक जोड़ के साथ मर्मस्पर्शी कथानक जो हमें हमारे ही अंतरात्मा की ओर जानें के लिए प्रेरित करती है।
 
पेट्रोल के दाम बढ़ना, जो एक समय पर दुर्लभ खबर होती थी, अब आम और रोज़मर्रा की बात होगयी है। पेट्रोल के दामों में बढ़ौतरी के कई कारण समय दर समय सामने आते रहे हैं। उसमें से एक है पेट्रोल पर लगता कर। ये कर इतना ज्यादा क्यो हैं? सरकार का इस पर क्या कहना है? एक आम इंसान की ज़िंदगी पर इसका क्या प्रभाव पड़ रहा है? ऐसे ही कुछ सवालों पर सुनिए प्रणय और सौरभ की पुल…
 
अपने घर में ,खुद में, और बच्चों में वही संस्कार पिरोने की कोशिश होनी चाहिए जो हम अधिकतर दूसरों से चाहते हैं प्रेम और विश्वास का दामन हृदय पर केंद्रित मन से थामे हुए एक प्यारी दुनिया में चले 🙏🏻Daaji (global guide of heartfulness)
 
क़ानून व्यवस्था सरकार की सर्वप्रथम प्राथमिकता होनी चाहिए। लेकिन भारत में ये व्यवस्था चरमरा गयी है - ये कहना ग़लत नहीं होगा। लेकिन क़ानून व्यवस्था की दुर्दशा एक ऐसा विषय है जिस पर चर्चा कम ही होती है। लेकिन अब कई सँस्थाएँ इस क्षेत्र के तथ्यों को सामने लाने के बेहद आवश्यक काम में जुटी हुई है। ऐसी ही एक पहल है इंडिया जस्टिस रिपोर्ट - जो सभी राज्यों की क़ा…
 
विज्ञान और नवीनता का पहिया कभी रुकता नहीं है। इसी पहिये के कारण मानवता की गाड़ी आजतक चलती आ रही है। ये गाड़ी चलते-चलते एक बहुत रोचक मोड़ पर आगयी हैहाल ही में इलेक्ट्रिक वाहनों के रूप में पेट्रोल और डीज़ल गाड़ियों का एक कारगर विकल्प सामने आया था मग़र उसमें बैटरी के आग पकड़ने के निरन्तर मामलों ने इस विकल्प पर एक प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया है। इन हादसो…
 
कुछ समय से अग्निपथ प्रवेश योजना पर भारतीय सरकार विचार-विमर्श कर रही है और माना जा रहा है कि जल्द ही, हमें देश में ये योजना लागू होती दिखाई दे सकती है। इस योजना के तहत सेनाओं की औसत उम्र में भी गिरावट आएगी और सरकार पर रिटायरमेंट और पेंशन का आर्थिक बोझ भी नहीं बढ़ेगा। क्या इस योजना का मुख्य कारण पेंशन से बचना है? क्या ये उद्देश्य और तरीकों से भी हासिल…
 
ये पुलियाबाज़ी है भारत के उभरते tech ecosystem पर. इसके कल, आज, और कल पर एक गहरी चर्चा सजित पई (@sajithpai) के साथ. सजित ब्लूम वेंचर्स में एक इन्वेस्टर है और उन्होंने हाल ही में भारत की tech हलचल पर एक विस्तृत रिपोर्ट लिखी है. This Puliyabaazi is in India's emerging tech ecosystem. This episode dives deep into discussion on its timeline with Sajith …
 
प्रणय और सौरभ, पुलियाबाजी की इस कड़ी में, बिहार में नशाबन्दी के कई पहलुओं पर चर्चा करते हैं और इसके कारगर साबित होने की संभावना को टटोलते हैं। यह एक ऐसी नीति है जो दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग समय पर बार-बार अस्तित्व में आई है। क्या यह कभी कारगर रही है? क्या यह बिहार में कारगर साबित होगी? पुलियाबाजी के इस भाग में यह सब और भी बहुत कुछ... ये…
 
हाल ही में आत्मनिर्भरता का नारा भारत के हर देशवासी के लबों पर सजा था। प्रणय और सौरभ, पुलियाबाज़ी के इस भाग में आत्मनिर्भता के कई पहलुओं पर चर्चा करते हैं और आत्मशक्ति की तुलना में आत्मनिर्भरता को मापते हैं। ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक और अंक है। इस बार का सवाल है - "भारत को क्या चाहिए: आत्मनिर्भरता या आत्मशक्ति?" In recent times, the …
 
ये हमारी नई कोशिश "एक सवाल, कई जवाब" का एक अंक है। इस बार का सवाल है - "जैविक खेती ने श्रीलंका का कैसे सत्यानाश कर दिया?" Puliyabaazi is on these platforms: Twitter: https://twitter.com/puliyabaazi Instagram: https://www.instagram.com/puliyabaazi/ Subscribe & listen to the podcast on iTunes, Google Podcasts, Castbox, AudioBoom, YouTube, Spotify, or…
 
Loading …

त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका

Google login Twitter login Classic login