FR. C. GEORGE MARY CLARET सार्वजनिक
[search 0]
अधिक

Download the App!

show episodes
 
Loading …
show series
 
पवित्र बाइबिल पर आधारित संतों की सबसे प्रिय प्रार्थना है पवित्र रोजरी माला विनती। इस में एक व्यक्ति माँ मरियम की कक्षा में बैठकर प्रभु येसु के मुक्तिदायी जीवन पर मनन करते हुए प्रार्थना करता है। पवित्र रोजरी माला विनती में पूरे व्यक्ति शामिल होता है - शरीर, मन, कल्पना और भावनाएँ आदि। यह कोई रट लगाने वाली प्रार्थना नहीं है। संपूर्ण सुसमाचार चार भागों…
 
Watch the video अध्याय 19 नाकेदार ज़केयुस अशर्फ़ियों का दृष्टान्त येरूसालेम में ईसा का प्रवेश येरूसालेम पर विलाप मन्दिर से बिक्री करने वालों का निष्कासन मन्दिर में शिक्षा Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - https://bit.ly/3A3Ksnk Hindi Audio Bible - https://bit.ly/3bvvEo4 संत लूकस का सुसमाचार - https://bit.ly/3BaCb05 St. Luke in Hindi - https://bit.ly/…
 
Watch video अध्याय 18 न्यायकर्ता और विधवा का दृष्टान्त फ़रीसी और नाकेदार का दृष्टान्त बच्चों को आशीर्वाद धनी युवक धन की जोखिम स्वैच्छिक निर्धनता दुखभोग की तीसरी भविष्यवाणी येरीख़ो का अन्धा Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - https://bit.ly/3A3Ksnk Hindi Audio Bible - https://bit.ly/3bvvEo4 संत लूकस का सुसमाचार - https://bit.ly/3BaCb05 St. Luke in Hindi…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 17 में हम निम्न बातों को देख सकते हैं :- Watch video बुरा उदाहरण - प्रलोभन पाप का द्वार कहा जा सकता है। हम जाने अनजाने में एक दूसरे के लिए पाप का कारण बन जाते हैं। दूसरों के गुस्सा का कारण बनना भी तो पाप है। प्रलोभन का कारण केवल कर्म से ही नहीं सोच, हावभाव, पहनाव से भी हो सकता है। क्षमाशीलता - क्षमा बोलना आसान है, लेकि…
 
Watch the video पवित्र रोजरी विनती ख्रीस्तीयों की सबसे शक्तिशाली प्रार्थना कही जाती है। पवित्र बाइबिल पर आधारित इस प्रार्थना में हम ईश्वर की माँ मरियम की कक्षा में प्रभु येसु के जीवन में घटित सबसे मह्त्वपूर्ण 20 घटनाओं पर मनन करते हैं। अनपढ़ों का पवित्र बाइबिल कही जानी वाली इस शक्तिशाली प्रार्थना का इतिहास 12 सदी से शुरू होता है। संत डोमिनिक (1170-1…
 
Watch the video संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 16 में हम प्रभु येसु की कुछ महत्वपूर्ण बातों को देख सकते हैं। बेईमान कारिन्दा - इस दुनिया के व्यापारी बहुत चतुर होते हैं। प्रभु येसु वैसे ही एक कारिन्दा का उदहारण देकर हम, "ज्योति की सन्तान" से आहवान करते हैं कि हम भी स्वर्गराज्य के लिए चतुर बनें। धन का सदुपयोग - इस दुनिया के धन को झूठा कहते हुए प्रभु क…
 
Watch the video संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 15 सुसमाचारों का सुसमाचार कहा जाता है। संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 15 सबसे प्रसिद्ध तीन दृष्टान्तों को देख सकते हैं। इन तीनों दृष्टान्तों के द्वारा ईश्वर के प्रेम की गहराई हम जान सकते हैं। तीनों दृष्टान्तों में खोया हुआ ज्यादा महत्वपूर्ण माना गया है। तीनों दृष्टान्त इस प्रकार हैं :- भटकी हुई भेड़ का दृ…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 14 में हम चार दृष्टान्तों को देख सकते हैं। इस अध्याय में निम्न महत्वपूर्ण बातों को देख सकते हैं :- Watch the video विश्राम के दिन चंगाई - प्रभु येसु नये विधान के द्वारा नयी शिक्षा दिए हैं। पुराने विधान में नियमों को लिखित कानून के रूप में लोग पालन करते थे; लेकिन प्रभु येसु उनके पीछे के कारण को देखते और उसके अनुसार उनका…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 13 निम्न महत्वपूर्ण बातों को देख सकते हैं :- Watch the Video पश्चात्ताप - हम स्वाभाविक रूप से दूसरों की गलतियों को जल्दी ढूँढ लेते हैं। लेकिन प्रभु कहते हैं कि सबों को पश्चात्ताप की जरुरत है। अपने पापों को स्वीकारना और ईश्वर की इच्छा अनुसार जीना अनिवार्य है। फलहीन अंजीर का पेड़ - यह दृष्टान्त हमारे प्रती ईश्वर की दया को…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 12 में प्रभु येसु की कुछ महत्वपूर्ण बातों को देख सकते हैं :- Watch the Video निर्भीकता - निडरता परिपूर्ण जीवन और स्वतंत्रता की पहचान है। इस दुनियायी जीवन में हम डरते-डरते जीते हैं। डर जीवन का दूसरा नाम भी लग सकता है। प्रभु येसु ही हमें सच्ची स्वतंत्रता का वरदान दे सकते हैं। निडरता का कारण यह नहीं कि हम सक्षम हैं; बल्कि…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 11 में, अन्य घटनाओं के साथ, प्रभु येसु की प्राथना पर शिक्षा दिया गया है। इस अध्याय के महत्वपूर्ण बातें निम्न हैं :- Watch the Video प्रार्थना - प्रभु येसु से अच्छा कौन हमें प्रार्थना करने सिखा सकता है? अच्छा हुआ शिष्यों ने प्रभु येसु से यह निवेदन किये, "प्रभु! हमें प्रार्थना करना सिखाइए" । और ख्रीस्तीयों की प्रार्थना "…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 10 में नीचे दिए गए महत्वपूर्ण बातों को देख सकते हैं :- Watch the Video बहत्तर शिष्यों का प्रेषण - प्रभु येसु अपने बहत्तर शिष्यों को अपने आगे यह शिक्षा देने भेजे, ’ईश्वर का राज्य तुम्हारे निकट आ गया है’। जहाँ प्रभु येसु हैं वही ईश्वर का राज्य है, क्योंकि प्रभु येसु ही राजा हैं। आज भी प्रभु येसु की प्रार्थना लहू होती है,…
 
अध्याय 09 बारहों का प्रेषण हेरोद और ईसा रोटियों का चमत्कार पेत्रुस का विश्वास दुखभोग की प्रथम भविष्यवाणी आत्मत्याग की आवश्यकता ईसाका रूपान्तरण अपदुतग्रस्त लड़का दुखभोग की द्वितीय भविष्यवाणी बड़ा कौन? उदारता समारिया में शिष्य बनने की शर्तें Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - https://bit.ly/3A3Ksnk Hindi Audio Bible - https://bit.ly/3bvvEo4 संत लूकस का …
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 08 में दृष्टान्तों, चमत्कारों, और शिक्षाओं का मिश्रण है। इस अध्याय के महत्वपूर्ण बातें इस प्रकार हैं :- Watch the Video पवित्र नारियों की सेवा-परिचर्या- संत लूकस, एक गैर-यहूदी होने के कारण, अपने सुसमाचार में नारियों को भी विशेष स्थान दिए हैं। बोने वाले का दृष्टान्त - दृष्टान्त दोधारी तलवार के समान हमेशा नया रहता है। सु…
 
क्या प्रभु येसु अपनी माँ को नारी बुलाकर अपमानित किये? सच क्या है? Why Did Jesus Call His Mother Woman in Hindi Watch the Video प्रभु येसु अपनी माँ को दो-दो बार "नारी" कहकर बुलाते हैं। आज हमारे लिए यह एक अपमान की बात हो सकती है। संत योहन रचित सुसमाचार में अन्य महिलाओं को भी प्रभु येसु "नारी" कहकर संबोधित करते हैं जो अपमान नहीं लगता। लेकिन अपनी माँ क…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 07 विश्वास से शुरू हो कर विश्वास में ही समाप्त होने वाले इस अध्याय में कुछ महत्वपूर्ण बातें देखने को मिलते हैं। जैसे :- Watch the Video कफ़रनाहूम का शतपति - "प्रभु! ... मैं इस योग्य नहीं हूँ कि आप मेरे यहाँ आयें।" हर पवित्र मिस्सा बलिदान में बोली जाने वाली इस प्रार्थना एक गैर-यहूदी शतपति की है। एक छोटा सा अधिकारी होने क…
 
अध्याय 06 विश्राम के दिन बालें तोड़ना सूखे हाथ वाला बारह प्रेरितों का चुनाव विशाल जनसमूह आशीर्वचन धिक्कार शत्रुओं से प्रेम दयालुता विविध परामर्श फल से पेड़ की पहचान कार्यों की आवश्यकता Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - https://bit.ly/3A3Ksnk Hindi Audio Bible - https://bit.ly/3bvvEo4 संत लूकस का सुसमाचार - https://bit.ly/3BaCb05 St. Luke in Hindi - h…
 
संत योहन रचित सुसमाचार अध्याय 5 में हम प्रभु येसु के प्रथम पांच शिष्यों के बुलाहट, दो चमत्कार और उपवास का प्रश्न को देख सकते हैं। वे इस प्रकार हैं : Watch the Video मछुओं का बुलावा - प्रभु येसु के अधिक्तर शिष्य अनपढ़ मछुवे थे। प्रभु येसु एक बढ़ई थे। इस बढ़ई "गुरु" की बात को मान कर संत पेत्रुस और उनके तीन साथी दुबारा मछली पकड़ने जाते हैं। और इस बढ़ई एक "…
 
पवित्र बाइबिल में यह कहाँ है? यह सवाल सामान्य रूप से काथलिक विश्वासियों से पूछा जाता है? Watch the Video यही सवाल पवित्र मिस्सा बलिदान के लिए भी पूछा जाता है - Where is the Holy Mass in the Bible? काथलिक मिस्सा बाइबल में कहाँ है? इन सवालों का जवाब "Where is the Holy Mass in Bible in Hindi | काथलिक मिस्सा बाइबल में कहाँ है?" नामक इस वीडियो में मिलेग…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 04 से प्रभु येसु का कार्य प्रारंभ होता है। Watch the Video इस अध्याय में वर्णित घटनाएँ इस प्रकार हैं :- प्रभु ईसा की परीक्षा - प्रभु येसु के बपतिस्मा के बाद आत्मा उन्हें निर्जन प्रदेश ले गया। प्रभु वहाँ 40 प्रार्थना में समय बिताये। फिर शैतान उनकी परीक्षा लिया। यह मरुभूमि में इस्राएलियों की यात्रा की याद दिलाती है। लेकि…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार के लेखक, संत लूकस, अपने सुसमाचार को विश्व इतिहास के साथ जोड़ते हैं। वे स्वयं एक गैर-यहूदी हैं। Watch the Video जैसे अध्याय एक और दो की शुरुआत विश्व इतहास के सन्दर्भ में किये वैसे ही अध्याय 03 की भी शुरुआत करते हैं। वे लिखते हैं - "कैसर तिबेरियुस के शासनकाल के पन्द्रहवें वर्ष में पोंतियुस पिलातुस यहूदिया का राज्यपाल था; हेरोद ग…
 
माँ मरियम को दुःखों की माँ - Our Lady of Sorrows / Mother of Sorrows कहा जाता है। क्योंकि प्रभु येसु और दुःख, प्रभु येसु और क्रूस, ये दोनों अलग नहीं किये जा सकते हैं। यह तो जैसे शरीर और साँस के समान हैं। Watch the Video माँ मरियम छाया की तरह अपने पुत्र के साथ चलीं। पिता ईश्वर ने चाहा कि उनका पुत्र दुःख सह कर हमें मुक्ति दिलाये। इस योजना के तहत माँ …
 
संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 02 प्रभु येसु के जन्म और किशोरावस्था के बारे में वर्णन करता है। इस अध्याय में स्वर्ग और पृथ्वी का एक होने का प्रकटीकरण देखने को मिलता है। स्वगदूत और मुष्य दोनों नाचते-गाते हैं। इस महत्वपूर्ण अध्याय में हम निम्न बातों को देखते हैं :- Watch the Video प्रभु ईसा का जन्म - संत लूकस प्रभु येसु के जन्म को मानव इतिहास में घटित…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार "अत्यंत ख़ुशी का सुसमाचार कहा जाता है। जैसे "INTRODUCTION TO LUKE's GOSPEL । संत लूकस रचित सुसमाचार का परिचय" नामक वीडियो में संत लूकस रचित सुसमाचार के बारे में विस्तार रूप से सीखे हैं। संत लूकस रचित सुसमाचार अध्याय 01 में हम कुछ विशेष बातों को देख सकते हैं जो पवित्र बाइबिल के अन्य कोई भी पुस्तक में, विशेष रूप से अन्य सुसमाचार…
 
अध्याय 16 स्वर्गदूत का सन्देश परिशिष्ट मरियम मगदलेना को दर्शन दो शिष्यों को दर्शन शिष्यों का प्रेषण स्वर्गारोहण Playlist: Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3A3Ksnk सन्त मारकुस का सुसमाचार Audio Bible https://bit.ly/3KyCJRJ Hindi Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3bvvEo4 #jesushindi #spiritualityhindi #audiobiblehindi catho…
 
संत लूकस रचित सुसमाचार हमें ईश्वर के उस रूप को बतलाता है जो हमसे अत्यदिक प्रेम, दया और क्षमा करने वाले हैं। संत लूकस रचित सुसमाचार का परिचय इस विशेष सुसमाचार को अच्छे और सही ढंग से समझने में जरूर मदद करेगा। Watch the Video इस वीडियो में निम्न विषयों पर गहरा अध्ययन किया गया है :- संत लूकस रचित सुसमाचार के लेखक - संत लूकस पाठक एवं उद्देश्य (किसके लिए…
 
अध्याय 15 पिलातुस के सामने काँटों का मुकुट क्रूस-आरोपण अपमान और उपहास ईसा की मृत्यु ईसा का दफ़न Playlist: Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3A3Ksnk सन्त मारकुस का सुसमाचार Audio Bible https://bit.ly/3KyCJRJ Hindi Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3bvvEo4 #jesushindi #spiritualityhindi #audiobiblehindi catholic audio bible n…
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 14 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- ईसा को मार डालने का षड्यन्त्र - नेता प्रभु येसु को मरवाने का उपाय ढूंढने लगते हैं; क्योंकि उनको पता था कि प्रभु को इससे ज्यादा छोड़ देना खतरा है। बेथानिया में भोज - बहुमूल्य इत्र से प्रभु की मृत्यु की तैयारी होती है। यूदस का विश्वासघात - यहूदी नेता चाहते थे कि कोई प्रभु येसु को पकटव…
 
10 basics of the holy rosary in hindi (पवित्र रोजरी विनती की 10 महत्वपूर्ण बातें) में पवित्र रोजरी विनती की पूरी जानकारी मिल जाएगी। पवित्र रोजरी विनती के बारे में जो भ्रम और गलत जानकारियाँ फैली जा रही हैं या हम में हैं, उन सबको 10 basics of the holy rosary in hindi (पवित्र रोजरी विनती की 10 महत्वपूर्ण बातें) पूर्ण रूप से दूर कर देगा। कुछ गलत जानकार…
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 13 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- Watch the Video मन्दिर के विनाश की भविष्यवाणी - यह भविष्यवाणी 70 ई. को पूरी हुई जब येरुसलेम मंदिन ढा दिया गया। विपत्तियों का प्रारम्भ - विपत्तियों मतलब यह नहीं कि अंत आने वाला है जैसे बहुत सारे लोग कहते हैं। कोरोना के शुरुआत में भी यही कहे। लोग इसलिए भी ख्रीस्तीयों से बैर करेंगे क्…
 
Watch the video सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 12 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- हिंसक असामियों का दृष्टान्त - प्रभु येसु दृष्टान्तों के द्वारा अपना संदेश श्रोताओं तक सटीक रूप से पहुंचते थे। इस दृष्टान्त में भी यही हुआ और यहूदी नेता समझ गए कि प्रभु उन्हीं के बारे में कह रहे थे। प्रभु का भी यही लक्ष्य था। दृष्टान्त सुनने वाले के जरुरत के अनुसार स…
 
माँ मरियम का जन्मोत्सव मानव मुक्ति की एक अहम् और निर्णायक घटना है। माँ मरियम के जन्मोत्सव के साथ नई सृष्टि की शुरुआत होती है। ईश्वर, जैसे आदम और हेवा को निष्कलंक बनाये थे, वैसे ही नाज़रेत की मरियम (माँ मरियम) को भी बनाये। माँ मरियम के जन्मोत्सव से जुड़ी कुछ अहम् बातों को हम जानने की कोशिश इस वीडियो में करते हैं। 1. माता-पिता - योखिम और अन्ना 2. जन्म …
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 11 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- Watch the Video येरूसालेम में ईसा का प्रवेश - प्रभु येसु बहुत बार येरूसलेम गए हुए थे, लेकिन इस बार का प्रवेश बहुत ही विशेष है; क्योंकि वे दाऊद के पुत्र के रूप में, 'प्रभु के मसीह' के रूप में प्रवेश करते हैं। फलहीन अंजीर का पेड - यहाँ अंजीर के पेड़ को यहूदियों के प्रतीक के रूम में दे…
 
माँ मरियम के जन्मोत्सव की तैयारी का नौवाँ दिन | स्वास्थ्य की माता वेलांकनी की नौरोजी प्रार्थना का नौवाँ दिन का मनन चिंतन का विषय है "धन्य कुँवारी मरियम की मध्यस्थता" । पवित्र बाइबिल में लिखा है, "क्योंकि केवल एक ही ईश्वर है और ईश्वर तथा मनुष्यों के केवल एक ही मध्यस्थ हैं, अर्थात् ईसा मसीह" (तिमथी के नाम सन्त पौलुस का पहला पत्र 2:5) । तो "धन्य कुँवा…
 
स्वास्थ्य की माता वेलांकनी की नौरोजी प्रार्थना का आठवाँ दिन। Velankanni Mother Mary Novena के आठवें दिन में हमारे मनन-चिंतन का विषय है "पारिवारिक जीवन और धन्य कुँवारी मरियम"। इस विषय - "पारिवारिक जीवन और धन्य कुँवारी मरियम" - को तीन भागों में बाँट कर मनन करेंगे। हर ख्रीस्तीय परिवार की माँ - Mother of Every Christian Family घर की रानी - Queen of the…
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 10 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- Watch the Video विवाह का बन्धन - विवाह एक अटूट सम्बन्ध है जो पवित्र त्रित्व के तीन ईश्वरीय व्यक्तियों के बीच के सम्बन्ध को एवं प्रभु येसु और कलीसिया के बीच के सम्बन्ध को प्रकट करता है। बच्चों को आशीर्वाद - ईश्वरीय राज्य में प्रवेश पाने पांचों-सा मनोभाव अपनाने की जरुरत है। धनी युवक …
 
Playlist: Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3A3Ksnk सन्त मारकुस का सुसमाचार Audio Bible https://bit.ly/3KyCJRJ Hindi Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3bvvEo4 #jesushindi #spiritualityhindi #audiobiblehindi catholic audio bible new testament hindi, roman catholic bible hindi, catholic audio bible, catholic audio bible hind…
 
Playlist: Naya Niyam (Vidhan) Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3A3Ksnk सन्त मारकुस का सुसमाचार Audio Bible https://bit.ly/3KyCJRJ Hindi Audio Bible - YouTube https://bit.ly/3bvvEo4 #jesushindi #spiritualityhindi #audiobiblehindi catholic audio bible new testament hindi, roman catholic bible hindi, catholic audio bible, catholic audio bible hind…
 
माँ मरियम के जन्मोत्सव की तैयारी के छठवें दिन हमारे मनन चिंतन के लिए लिया हुआ विषय है - "धन्य कुँवारी मरियम : निष्कलंका" प्रभु येसु हर मनुष्य के मुक्तिदाता हैं। हर व्यक्ति पापी है, यहाँ तक कि जो बच्चा माँ के गर्भ में है वह भी। इसका कारण आदि-पाप है जिसमें हर मनुष्य भाग लेता है। ईश्वर अपने पुत्र को जिस मरियम के माध्यम से इस धरती पर लाना चाहे उसको इस …
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 06 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- Watch the Video फरीसियों की परम्पराएँ - परम्पराएँ अच्छी हैं और जरुरी भी, लेकिन यदि वे ईश्वर और उनके के जगह ले लेती हैं तो खतरा है। ईश्वर मन को और दिल की बातों को देखते हैं। शुध्द और अशुध्द की व्याख्या - जो बाहर से मनुष्य के अंदर जाता है वह नहीं, बल्कि जो उसके अंदर से निकलता है, वही…
 
माँ मरियम के जन्मोत्सव की तैयारी के पांचवां दिन हमारे मनन चिंतन के लिए लिया हुआ विषय है - "ख्रीस्तीय जीवन में माँ मरियम का महत्व" Watch the Video माँ मरियम के बिना क्या ख्रीस्तीय जीवन संभव है? इस सवाल को थोड़ा बदलकर भी पूछ लें - माँ मरियम के बिना क्या प्रभु येसु का जीवन संभव था? जरूर ईश्वर के लिए कुछ भी असंभव नहीं है। लेकिन ईश्वर के पुत्र के शरीरधार…
 
माँ मरियम के जन्मोत्सव की तैयारी के चौथे दिन हमारे मनन चिंतन के लिए लिया हुआ विषय - "धन्य कुँवारी मरियम : ईश्वर की माँ" Watch the Video इन दोनों में कौनसा सही है? धन्य कुँवारी मरियम ईश्वर की माँ या धन्य कुँवारी मरियम ईसा / येसु की माँ? ज्यादा लोग "धन्य कुँवारी मरियम ईसा / येसु की माँ" का प्रयोग करना पसंत करते हैं। और कुछ लोग धन्य कुँवारी मरियम को य…
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 06 में निम्न घटनाओं को देख सकते हैं :- Watch the Video अविश्वासी नाज़रेत - नबी का अपने घर में स्वागत नहीं होता है। जहाँ प्रभु लगभग तीस बरस तक रहे, वहाँ के लोग प्रभु पर विश्वास करने से इंकार करते हैं। बारहों का प्रेषण - प्रभु अपने शिष्यों को दो-दो कर भेज देते हैं। उन्हें अपना अधिकार और सामर्थ्य देकर प्रभु उन्हें भेज द…
 
माँ मरियम के जन्मोत्सव की तैयारी के तीसरे दिन माँ मरियम को "मेलमिलाप की माँ" के रूप में मनन कर रहे हैं। हम कैसे कह सकते हैं "धन्य कुँवारी मरियम : मेलमिलाप की माँ"? क्या यह सही है या गलत? Watch the Video यह माँ मरियम के बारे में काम और प्रभु येसु के बारे में ज्यादा है। तो आइये हम इस रहस्य हो समझने की कोशिश करते हैं। मनुष्य और ईश्वर के बीच दुश्मनी थी…
 
Velankanni Mother Mary Novena in Hindi | DAY 02 का विषय - धन्य कुँवारी मरियम : बचाए जा रहे लोगों की माँ मरियम पवित्र बाइबिल में दो प्रकार की सृष्टियों का वर्णन है जैसे पवित्र बाइबिल को ही दो भागों में बाँटा गया है। दोनों की तुलना भी हम कर सकते हैं और करना भी चाहिए। हम आदम के बारे में विचार नहीं कर रहे हैं, पर हेवा के बारे में। 'हेवा' शब्द का अर्थ ह…
 
वेलांकन्नी में माता मरियम 16 वीं और 17 वीं सदियों में तीन बार दर्शन दीं। माता मरियम समय समय पर लोगों को दर्शन देकर ईश्वर की इच्छा प्रकट करतीं या लोगों की मदद करतीं। भारत देश के तमिलनाडु में नागपट्टिनम जिले के वेलांकन्नी नामक जगह पर तीन बार दर्शन दीं। प्रभु जिस माँ को क्रूस पर मरते समय हमारी माँ के रूप में दिए, वह माँ हमारा देख-रेख करती हैं। 08 सितम…
 
संत मरकुस रचित सुसमाचार के अध्याय 05 में दो घटनाओं का वर्णन है। पहली अपदूत को निकालने की घटना और दूसरी में एक मृत लड़की को जिलाते हैं। दूसरी घटना के पहले और एक घटना को जोड़ दिया गया है। Watch the Video संत मरकुस रचित सुसमाचार के अध्याय 05 में निम्न घटनाओं का वर्णन है :- गेरासा का अपदूतग्र्स्त - एक अपदूतग्रस्त मक़बरों में रहता था। कोई भी उसको वस् में …
 
संत मरकुस रचित सुसमाचार में अध्याय 04 में प्रभु के दृष्टांतों का वर्णन करते हैं। बोने वाले का दृष्टान्त - उनके पास आयी हुई भीड़ को देखकर प्रभु वचन सुनने और उचित फल लाने के बारे में शिक्षा देते हैं। केवल वचन सुनना या पढ़ना पर्याप्त नहीं है। दृष्टान्तों का उद्देश्य - स्वर्गराज्य के रहस्यों को प्रभु नम्र और विनीत लोगों पर ही प्रकट करते हैं। प्रभु दैनिक …
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार अध्याय 03 में निम्न घटनाओं को देख सकते हैं :- Watch the Video सूखे हाथ वाला - हमेशा अच्छा करते रहना है, विश्राम दिवस में भी। प्रभु कोई भी अवसर बेकार जाने नहीं देते हैं। समुद्रतट पर विशाल जनसमूह - जहाँ कहीं भी प्रभु येसु जाते थे, वहाँ भीड़ इकठा हो जाती थी। बारह प्रेरितों का चुनाव - उनके साथ रहने और भेजे जाने के लिए प्रभु विश…
 
सन्त मारकुस रचित सुसमाचार सबसे पहले लिखा गया सुसमाचार है। 16 अध्याय वाला सन्त मारकुस रचित सुसमाचार चारों सुसमाचारों में सबसे छोटा है। Watch the Video इस पुस्तक को बेहतर समझने इसे 6 भागों में बाँटा गया है। जैसे :- परिचय 1:1-13 ईसा का अधिकार 1:14-3:6 लोगों के प्रतिक्रिया 3:7-6:6a शिष्यों की गलतफेमी 6:6b-8:21 चुने हुए मसीह का मिशन और शिष्यों की अज्ञान…
 
Loading …

त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका

Google login Twitter login Classic login