आखिरी सफर | (Part-02)

13:45
 
साझा करें
 

Manage episode 281439274 series 2426815
kumar ABHISHEK upadhyay and Kumar ABHISHEK upadhyay द्वारा - Player FM और हमारे समुदाय द्वारा खोजे गए - कॉपीराइट प्रकाशक द्वारा स्वामित्व में है, Player FM द्वारा नहीं, और ऑडियो सीधे उनके सर्वर से स्ट्रीम किया जाता है। Player FM में अपडेट ट्रैक करने के लिए ‘सदस्यता लें’ बटन दबाएं, या फीड यूआरएल को अन्य डिजिटल ऑडियो फ़ाइल ऐप्स में पेस्ट करें।

आखिरी सफर | पिछले एपिसोड में हमने देखा की सार्थक कुछ उखड़ा उखड़ा सा कुछ खोया खोया सा रहता था। उसका मन कही नहीं लग रहा था। और बार बार वो अपने आपको कोसता रहता था। जैसे उसने अमृता को हमेशा के लिए खो दिया था। अब आगे देखते है क्या होता है। In the last episode, we saw that there was something meaningful, uprooted and some lost, lost and lost. His mind could not seem to be anywhere. And again and again he used to curse himself. Like he lost Amrita forever. Now let's see what happens

--- This episode is sponsored by · Anchor: The easiest way to make a podcast. https://anchor.fm/app --- Send in a voice message: https://anchor.fm/kumar-abhishek/message Support this podcast: https://anchor.fm/kumar-abhishek/support

79 एपिसोडस